Posts

Showing posts from January, 2020

सफल स्वयं-प्रकाशन पर पेशेवर के विचार

मैंने अपने पिछले आलेख से सफल स्वयं-प्रकाशन कीसम्भावना पर एक श्रृंखला शुरू करी है|
स्वयं-प्रकाशन दो रूपों में किया जा रहा है| स्वयं-प्रकाशन paperback और eBook के माध्यम से प्रचलित है| मेरी चर्चा मुख्य रूप में eBook के रूप पर है| मैंने अभी तक KindleDirectPublishing (KDP) को ही माध्यम बनाया है| Kindle को Amazon चलाती है|
Kindle के अलावा अमेरिका में कुछ और भी मुद्रण करने वाली कंपनियाँ हैं| उन में से GoogleBooks, Smashwords, D2D और IngramSparks बहुत प्रचलित हैं|
ऑस्ट्रेलिया से जारी होने वाली एक Web मैगजीन में IngramSparks के एक प्रबंधकसदस्य Regan Kannamer का एक लेख छपा है| Regan ने स्वयं-प्रकाशकन लेखकों पर एक सर्वेक्षण पर अपनी विवेचना लिखी है| Regan इस निष्कर्ष पर पहुंचा है कि स्वयं-प्रकाश लेखों की आमदनी में वृद्धि हो रही है|
मेरे पिछले लेख में भी इसी प्रकार का विषय लिया गया है| मैंने अपने अनुभव एवं सर्वेक्षण के आधार पर अपनी बात कही थी| मेरे और Regan के निष्कर्ष कुछ मिलते जुलते हैं| मेरे कार्य करने का ढंग अपना है और Regan ने वैज्ञानिक विधियों का प्रयोग करते हुए अपनी बात कही है|
Regan के नि…

क्या स्वयं-प्रकाशन लाभदायक व्यवसाय हो सकता है? (भाग 1)

क्या स्वयं-प्रकाशन लाभदायक व्यवसाय हो सकता है? यह प्रश्न केवल भारत में ही नहीं पुछा जाता है बल्कि पश्चिमी देशों में भी उतनी ही तीव्रता से उठाया जाता है|
मेरा विचार है की स्वयं-प्रकाशन पश्चिमी देशों में ज्यादा प्रचलित है| ऐसा नहीं कि भारत में इस सम्बन्ध में कोई रुचि या चेतना नहीं है| जहाँ तक मेरी जानकारी है अमिश त्रिपाठी और सावी शर्मा ने अपना लेखन का सफ़र स्वयं-प्रकाशन से किया था| उनकी लोकप्रियता के बाद ही स्थापित प्रकाशकों ने उन्हें अनुबंधित किया था|
आंकड़ोंपरआधारितअगरबातकरनीहोतो 2017 मेंJeffBezosनेअपनेshareholdersकोयहअधिकारिकसूचनादीथीकिउसवर्ष