सफल स्वयं-प्रकाशन पर पेशेवर के विचार


मैंने अपने पिछले आलेख से सफल स्वयं-प्रकाशन कीसम्भावना पर एक श्रृंखला शुरू करी है|

स्वयं-प्रकाशन दो रूपों में किया जा रहा है| स्वयं-प्रकाशन paperback और eBook के माध्यम से प्रचलित है| मेरी चर्चा मुख्य रूप में eBook के रूप पर है| मैंने अभी तक Kindle Direct Publishing (KDP) को ही माध्यम बनाया है| Kindle को Amazon चलाती है|

Kindle के अलावा अमेरिका में कुछ और भी मुद्रण करने वाली कंपनियाँ हैं| उन में से Google Books, Smashwords, D2D और IngramSparks बहुत प्रचलित हैं|

ऑस्ट्रेलिया से जारी होने वाली एक Web मैगजीन में IngramSparks के एक प्रबंधकसदस्य Regan Kannamer का एक लेख छपा है| Regan ने स्वयं-प्रकाशकन लेखकों पर एक सर्वेक्षण पर अपनी विवेचना लिखी है| Regan इस निष्कर्ष पर पहुंचा है कि स्वयं-प्रकाश लेखों की आमदनी में वृद्धि हो रही है|

मेरे पिछले लेख में भी इसी प्रकार का विषय लिया गया है| मैंने अपने अनुभव एवं सर्वेक्षण के आधार पर अपनी बात कही थी| मेरे और Regan के निष्कर्ष कुछ मिलते जुलते हैं| मेरे कार्य करने का ढंग अपना है और Regan ने वैज्ञानिक विधियों का प्रयोग करते हुए अपनी बात कही है|

Regan के निष्कर्ष 5000 लेखकों के सर्वेक्षण पर आधारित हैं| उस सैंपल में पारम्परिक और स्वयं-प्रकाशित लेखक शामिल थे| पारम्परिक प्रकाशन लेखक 46% प्रतिशत थे| इस का अर्थ है कि कुल 2300 लेखक ही पारम्परिक प्रकाशन के थे| ऐसा बताया गया है कि यह सर्वेक्षण अमेरिका में होने वाला अपने आप में पहला बड़ा सर्वेक्षण था जो कि 2018 में किया गया था| इसी सर्वेक्षण में यह निष्कर्ष निकला था कि स्वयं-प्रकाशन लेखों की आय बड रही है| Regan बताता है कि इस सर्वेक्षण में बहुत से लेखक ऐसे थे जो IngramSparks का प्रयोग करते हैं| वह यह भी मानता है कि Amazon Kindle से प्रकाशन करने वालों की गिनती सब से ज्यादा है|

उस सर्वेक्षण में यह निकल कर आया है कि स्वयं-प्रकाशन लेखकों की औसतन आय $12400 प्रति माह के लगभग रहती है| भारतीय currency में यह 8.5 लाख प्रति माह बैठती है| मेरे सर्वेक्षण में Amazon Annual Report 2017 और kboards.com के लखों पर आधारित मत है कि यह एक लाख प्रति वर्ष अर्जित कर रहें हैं| यह निष्कर्ष Regan के निष्कर्ष से मेल खाता है|


Regan ने एक और निष्कर्ष निकाला है कि आप किसी भी परिपाटी से प्रकाशन करें, आप को अपनी आमदन बनाये रखने के लिए अन्य व्यवसायों में भी बना रहना पड़ता है| यह एक विरोधात्मक निष्कर्ष है| हम तो इस बात की सम्भावना का अवलोकन कर रहें कि क्या लेखन स्थाई आय का साधन हो सकता है| Regan के इस निष्कर्ष ने तो बात ही खत्म कर दी| उसे तो फिर अपनी कंपनी ही बंद कर देनी चाहिए| जैसा कि मैंने अपने पहले लेख में कहा है कि इस विषय में बात करने वाले यह जरूर कहते हैं कि अगर आप उन के सुझावों का अनुसरण करें तो आप सफल हो सकते हो| ऐसा ही Regan भी अपने लेख में आगे चल कर कहता है|


Regan आगे चल कर मत देता है कि पारम्परिक प्रकाशन के माध्यम से एक सफल लेखक बन पाना बहुत मुश्किल से हो पाता है| इस लिए Self-Publishing एक विकल्प बन कर ऊभर रहा है| ऐसा कहने पर वह अपने ही अवलोकन के विरुद बात कर गया है| बेशक वह एक कम्पनी का प्रतिनिधित्व कर रहा जो अन्य कंपनियों के साथ प्रतिस्पर्धा में है|


Regan के अनुसार ज्यादा प्रचलन रोमांस और जासूसी कथायों का है| मैंने अपने अवलोकन में कहा था कि रोमांस का प्रचलन घट रहा है और उस की जगह Science Fiction और Erotica का चलन बना हुया है| Regan के अनुसार Non-Fiction के चलन घट रहा है परन्तु जब वह उदाहरण देने लगता है तो Cooking Books की बात करता है| मैं Non-Fiction शैली में लेखन करता हूँ| मैं अपनी श्रृंखला में इसी पर चर्चा करता रहूँगा|


Regan 5000 लेखकों के अवलोकन से यह बताता है कि केवल 1/5 Self-Publishing लेखक ही अच्छी आमदनी बनाये रखने में सफल हैं| उन सफल लेखकों ने भी लेखन की coaching का काम शुरू कर रखा है| यही निष्कर्ष मैंने अपने आलेख में दे रखा है| Regan तो यहां विचार दे गया है कि लेखक को लेखन को लेखन के साथ coaching क्लास भी चलाये रखनी चाहिए|


Regan स्पष्ट करता है कि लेखक को Marketing करनी ही होगी| यह बात मैंने भी अपने अनुभव के आधार पर अपने लेख में लिखी है| मेरे आने वाले लेखों में इस बात पर चर्चा होती रहेगी|


Regan का लेख March 2019 में छपा था परन्तु यह कुछ दिन पहले ही मेरे हाथ लगा है| मैंने इस से पहले ही अपने आलेख “क्या स्वयं-प्रकाशन लाभदायक व्यवसाय हो सकता है?” में कुछ बाते लिख दी थीं जो Regan के लेख में भी मिलती हैं| अपनी बात को दुसरे की बात की कसौटी पर कसते रहने से अपने बोध में परिपक्वता आती है| इसी लिए एक लेख के रूप में मैंने इस की चर्चा यहां की है| मेरी श्रृंखला बनी रहेगी जिस में मैं अपने अनुभवों के आधार पर ही बात लिखूंगा जिस को प्रमाणों सहित साँझा करूंगा|

शेष अगले आलेख में 
 

Catalogue of the Books Written by Sumir Sharma

Comments

Popular posts from this blog

क्या स्वयं-प्रकाशन लाभदायक व्यवसाय हो सकता है? (भाग 1)

सुमीर की पुस्तकों का Google Preview उपलब्ध हुया

भारत के संविधान का इतिहास - भारत में कंपनी शासन के समय के चार्टर अधिनियम 1773 - 1858 नोमिनेट हुई है|